Best Bike riding tips in hindi (सुरक्षित बाइक चलाने के टीप्स)

Bike riding tips( बाइक राइडिंग टीप्स)

आज हम बात करनेवाले है bike riding tips के बारेमे। कैसे सुपर bike boy की तरह riding करे। bike(motorcycle) हमारे लीए बोहत useful है। जितना इम्पोर्टेन्ट हमारे लिए मोबाइल है उतना ही बाइक हमारे लिए इम्पोर्टेन्ट है, क्यों की बाइक(motorcycle) हमारी जीवन जरूरियात बन चुकी है।  बाइक के जरिये हम बोहत ही जल्दी अपना काम कर सकते है। अपने समय के अनुसार अपने काम को आसानी से पूरा कर सकते है।

Bike riding image

बाइक राइडिंग करना भी एक कला है। खुदको और अपने बाइक को safe रखके राइडिंग करना बोहत ही बड़ी बात है। लोग बाइक चलाना तो जान लेते है, चला भी लेते है लेकिन कुछ परिस्थितियों में वो कण्ट्रोल खो बैठते है और अकस्मात कर देते है। अकस्मात बोहत ही भयंकर है। इसमें जान भी जा सकती है। तो हमे अपने बाइक की riding इस तरह करनी है की हमेसा हम खुदको और अपने bike को safe रख सके।

बोहत बार हम राइडर्स को देखते है या फिर कही racing competition  देखते है। वो बोहत ही fast bike चलाते है, लेकिन अकस्मात बोहत ही कम बोले तो नहीं के बराबर वो अकस्मात करते है। ऐसा क्यों? क्योकि वो राइडिंग को जानते है, उन्हें मालूम है की किस तरह राइडिंग की जय जिसकी वजह से हम हर परिस्थितिमे अपने बाइक को कण्ट्रोल कर सके और अकस्मात से बच सके। तो चलिए हम बात करते है बाइक राइडिंग टॉपिक पर। ऐसी टिप्स जो बाइक राइडिंग करते वक्त बोहत ही जरूरी है।

bike राइडिंग के लिए बाइक कंट्रोल

बाइक राइडिंग का सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक है तो वो है कण्ट्रोल। बाइक को अपने हिसाब से मन मुजब कंट्रोल करना आना चाहिए। क्योकि बाइक हमारी मर्जी मुजब ही नहीं चलेगी तो हम उससे सुरक्षित riding कैसे करेंगे।

बाइक कंटोल के लिए बोहत जरूरी है राइडर की hight. हमे वही बाइक पसंद करना चाहिए जो हमारी hight के अनुसार हो। सबकी hight same तो नहीं होती है। अगर हमारी bike हमारी hight के अनुसार होगी तो सबसे बड़ा फायदा की हम अपने पेरो के दम पर अपने बाइक को जुका सकते है। उसे गिरने से भी बचा सकते है। और बोहत ही अच्छे से कण्ट्रोल कर सकते है।

बाइक के कंट्रोलर जैसे की ब्रेक, क्लच पर हमारा पूरा नियंत्रण होना चाहिए। हैंडल पकड़ने का ढब भी सही होना चाहिए। जब हम अपने दोनों हाथ हैंडल पर रखते है, तो उन्हें इस तरह पकड़ना चाहिए की जब ब्रेक लीवर या क्लच लिवर दबाते है तो वो बड़ी आसानी से दब जाना चाहिए। मतलब हैंडल के लास्ट भाग पर अपने हाथ और अंगुलिया लीवर पर रखनी चाहिए। ताकि हम आसानी से कंटोल कर सके।

साइड स्टैंड का ध्यान रखे 

आप सोच रहे होंगे की भाई ये साइड स्टैंड का राइडिंग के साथ क्या सबंध है, लेकिन साइड स्टैंड भी कभी कभी हमारी अच्छी राइडिंग का मूड खराब कर देता है। कई बार अकस्मात भी उसकी वजह से हो जाते है।

जब हम अपनी बाइक खड़ी करते है तो सबसे ज्यादा उपयोग हम साइड स्टैंड का करते है। main stand  का उपयोग बाइक खड़ी करने के लिए बोहत ही कम करते है। जब हम अपना बाइक पार्क करते है। फिर rest करके फिरसे riding के लिये निकलते है तो साइड स्टैंड को ऊपर करना ही भूल जाते है। धीरे धीरे साइड स्टैंड को ऊपर करने की आदत तो पद जाती है, लेकिन कही बार भूल भी जाते है, ये हमारे लिए बोहत ही बड़ी समस्या बन जाती है। हमे साइड स्टैंड वाली साइड में अगर टर्न लेना है और साइड स्टैंड ऊपर नहीं किया है तो टर्न केते ही साइड स्टैंड जमीन पे टच करेगा और बाइक पटक देगा। जो हमारे लिए बोहत बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है। जब भी हम राइडिंग के लिए निकले तो सबसे पहले साइड स्टैंड को चेक करना ही करना है।

Also Read 
Bike ki care kaise kre
Bike ko khrab hone se kaise bchae
Facebook se earn kaise kre(kaise kmae)

bike riding के वक्त हेलमेट importance 

Helmet राइडिंग की सबसे जरूरी चीज है। बाइक राइडिंग करते वक्त हेलमेट पहनना बोहत  ही जरूरी है। हेलमेट हमे safe रखता है। ऐसा जरूरी नहीं है की अकस्मात हो तो ही हेलमेट काम करता है, और हमारे सर को बचा लेता है, ये तो बोहत ही कम संभावना है की अकस्मात के लिए ही हेलमेट जरूरी है।

जब हम रोड पर बाइक चलते है तो कई बार बारीक़ पत्थर उड़ उड़ के हमारे पर गिरते है। जिसकी और वो आँखों में गिर सकते है। अगर हमने हेलमेट पहना हुआ है तो इससे बच सकते है। इसके आलावा धुँआ, vehicles का धुँआ जो बोहत ही हानिकारक और दूषित होता है। जिसकी वजह से हमारे आँखों पर बोहत हु बुरा इफेक्ट पड़ता है। और आँखों को रेड कर देता है। और हमे आँखों पे भार आने लगता है और थकान महसूस होती है। अगर हम हेलमेट पहनते है तो हम इस धुए से अपनी आँखों को बचा सकते है।

अगर किसी भी वजह से अकस्मात हो जाता है तो हेलमेट हमारे सर को बचा लेता है। क्यों की सर को बचाना बोहत ही इम्पोर्टेन्ट है। एक्सीडेंट होते है सबसे ज्यादा भय सर का रहता है।

बाइक राइडिंग के समय दो व्हीकल में डिस्टेंस 

बाइक राइडिंग करते समय भी डिस्टेंस का ख्याल रखना इम्पोर्टेन्ट है। राइडिंग करते  वक्त हमे आगे वाले व्हीकल से कुछ डिस्टेंस रखके ही अपनी बाइक चलानी चाहिए। हमे उतना डिस्टेंस तो रखना ही चाहिए की अगर आगेवाला व्हीकल अचानक रुक जाए तो हम आसानी से अपने बाइक को कंट्रोल कर सके। कोई लोड वाला ट्रक या टेम्पो हो तो हमे डिस्टेंस रखना बोहत ही जरूरी है।  कई बार ऐसा भी होता है की ट्रक या टेम्पो पर रखा हुआ सामान गिर जाये तो एक्सीडेंट की संभावना रहती है। तो हमे बाइक चलाते वक्त डिस्टेंस रखना अनिवार्य है।

फ्री mind से बाइक राइडिंग करे

बाइक चलना कोई इतनी भी आसान क्रिया नहीं है, की हम विचारो में बाइक राइडिंग कर सके। बाइक राइडिंग करते वक्त हमे हमेसा अपने दिमाग को पूरी तरह active रखना चाहिए। किसी भी परिस्थितिमे हमारा दिमाग डिसीजन लेने में एक्टिव होना चाहिए।

अगर हम बाइक राइडिंग विचारो में खोये हुए करते है. तो हम कंट्रोलर पर ध्यान नहीं दे पाते है।  ब्रेक लीवर दबाने की जगह हम क्लच लीवर दबा  देते है और बोहत बड़ी समस्या बन जाती है। अगर किसी भी प्रकार का तनाव है तो हमे बाइक राइडिंग नहीं करनी चाहिए।

कंट्रोलर अपडेट रखना आवश्यक है। 

बाइक राइडिंग के लिए बाइक के कंट्रोलर बढ़िया तरिके से वर्क करने चाहिए। अगर कंटोलर सही है तो हम बाइक को आसानी से कंटोल कर सकते है। बाइक कंटोलर पर सबसे ज्यादा डिपेंड करती है। जैसे की क्लच लीवर, ब्रेक लीवर, एक्सेलेटर, वगेरा सब बोहत ही अछे से वर्क करते होने चाहिए। तभी हम perfact राइडिंग कर सकते है।

बाइक राइडिंग के बारेमे सारी जानकारी  इस पोस्ट के  जरिये मेने देने की पूरी कोसिस की है। हम कैसे safe ड्राइविंग कर सकते है और अपने आप को safe रख सकते है। 
Best Bike riding tips in hindi (सुरक्षित बाइक चलाने के टीप्स) Best Bike riding tips in hindi (सुरक्षित बाइक चलाने के टीप्स) Reviewed by Adviser Bird on October 25, 2018 Rating: 5
Powered by Blogger.